• Fri. Jul 12th, 2024

62 करोड़ किलोमीटर पृथ्वी से दूर NASA के स्पेसक्राफ्ट को कामयाबी, आइये जानें क्या खास

Bysatykhabar.com

Nov 7, 2023
NASA's spacecraft achieves great success

सत्य खबर : ( NASA’s spacecraft achieves great success about 62 crore kilometers away from Earth) धरती से करीब 62 करोड़ किलोमीटर दूर NASA के स्पेसक्राफ्ट को बड़ी सफसलता मिली है। इस सपेसक्रॉफ्ट का नाम है जूनो स्पेसक्राफ्ट इस स्पेसक्राफ्ट ने बृहस्पति के सबसे बड़े चन्द्रमा पर बहुत बड़ी खोज की है।

Ganymede जो की बृहस्पति का सबसे बड़ा चन्द्रमा है उसपर नासा के स्पेसक्राफ्ट ने बहुत ही दिलचस्प खोज की है यह स्टडी नेचरडॉटकॉम में छपी है। बता दें कि बृहस्पति गृह का यह चाँद बुध गृह से भी बड़ा है।

ये हुई खोज (NASA’s spacecraft achieves great success about 62 crore kilometers away from Earth) 

जानकारी के मुताबिक गेनीमेड पर लवण खनिज जैसे पदार्थों के बारे में पता चला है। नासा के जूनो मिशन को इस बड़ी खोज में कामयाबी मिली है। बता दें कि करीब 2 वर्ष पहले जब यह सप्सक्राफ्ट गेनीमेड के पास से गुरा था तब इसका डाटा इकठा किया गया था।

जिससे जानकारी मिली है कि इसकी साथ पर कार्बनिक यौगिकों और खनिज लवणों की मौजूदगी है। वैज्ञानिकों के अनुसार इसकी सतह पर बर्फ है और इसके नीचे सागर हो सकता है। जिसके चलते सभी इसपर रिसर्च करना चाहते है।

जूनो स्‍पेसक्राफ्ट का सफर

जानकारी के लिए बता दें की जूनो स्‍पेसक्राफ्ट वर्ष 2016 में बृहस्पति की कक्षा में पंहुचा था। जिसके बाद से लगातार उससे डाटा इकठा कर रहा है।( NASA’s spacecraft achieves great success about 62 crore kilometers away from Earth) 

इस वर्ष अप्रैल में ही 50वां क्लोज पास बृहस्पति गृह का स्पेसक्राफ्ट ने पूरा किया था। बता दें कि गेनीमेड चन्द्रमा पर लवण और कार्बनिक पदार्थ होने की बात तो पहले भी कही गई थी लेकिन इसकी पृष्टि अब हुई है। बता दें कि लवण खनिज होने कि जानकारी हबल टेलीस्‍कोप के डेटा से भी मिलती है।

यह भी देखें :- वजन घटाने के 10 असरदार उपाए, आसान भी और परिणाम भी

यह भी देखें- Cyber Crime – से कैसे बचें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *